विधिव्यवस्था संधारण के लिए दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है

पटना. आयुक्त, पटना प्रमंडल, पटना कुमार रवि ने कहा है कि संघ लोक सेवा आयोग, नई दिल्ली द्वारा आयोजित ईपीएफओ में पर्सनल एसिस्टेंट तथा ईएसआईसी में नर्सिंग ऑफिसर के पद के लिए भर्ती परीक्षा, 2024 स्वच्छ, कदाचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण माहौल में सम्पन्न कराना प्रशासन की सर्वाेच्च प्राथमिकता है। सभी संबंधित पदाधिकारी इसके प्रति सजग, तत्पर एवं प्रतिबद्ध रहेंगे। वे आज आयुक्त कार्यालय स्थित सभाकक्ष में इस विषय पर आयोजित एक बैठक में दंडाधिकारियों, स्थानीय निरीक्षण अधिकारियों, केन्द्राधीक्षकों तथा अन्य पदाधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। आयुक्त श्री रवि ने कहा कि जिलाधिकारी, पटना एवं वरीय पुलिस अधीक्षक, पटना द्वारा विधिव्यवस्था संधारण एवं भीड़ प्रबंधन हेतु स्थानीय निरीक्षण अधिकारियों, सहायक पर्यवेक्षकसहस्टैटिक दण्डाधिकारियों, जोनल दंडाधिकारियोंसहसहायक समन्वयक पर्यवेक्षकों, सुरक्षित दंडाधिकारियों एवं पुलिस पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। बैठक में ये सभी पदाधिकारी, दंडाधिकारी तथा केंद्राधीक्षक उपस्थित हैं। सभी पदाधिकारी संघ लोक सेवा आयोग के अनुदेशों का अक्षरशः अनुपालन सुनिश्चित करेंगे।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि सभी पदाधिकारी परीक्षा की गरिमा को कायम रखेंगे। प्रोटोकॉल एवं मानक संचालन प्रक्रिया के अनुपालन में लापरवाही एकदम बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ऐसा पाए जाने पर दोषी पदाधिकारियों के विरूद्ध विधिसम्मत सख्त कार्रवाई की जाएगी।

विदित हो कि संघ लोक सेवा आयोग, नई दिल्ली द्वारा आयोजित ईपीएफओ में पर्सनल एसिस्टेंट तथा ईएसआईसी में नर्सिंग ऑफिसर के पद के लिए भर्ती परीक्षा, 2024 दिनांक 07.07.2024 को पटना केन्द्र के 13/14 (तेरह/चौदह) उप केन्द्रों पर एकएक पाली में आयोजित होगी।

ईपीएफओ में पर्सनल एसिस्टेंट भर्ती परीक्षा में परीक्षार्थियों की संख्या 5,633 तथा ईएसआईसी में नर्सिंग ऑफिसर के पद पर भर्ती परीक्षा में परीक्षार्थियों की संख्या 5,942 है।

आयुक्त श्री रवि ने दंडाधिकारियों एवं केन्द्राधीक्षकों को परीक्षा केन्द्रों पर शुद्ध पेयजल, प्रकाश, हवा सहित अन्य व्यवस्था तथा आयोग के निदेशों का अनुपालन करने का निदेश दिया।

परीक्षाओं के सफल संचालन के लिए प्रत्येक उप केन्द्र पर 1-1 स्थानीय निरीक्षण अधिकारी एवं 1-1 सहायक पर्यवेक्षकसहस्टैटिक दण्डाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। 14 परीक्षा उपकेन्द्र के लिए 04 जोन निर्धारित करते हुए 04 जोनल दंडाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। साथ ही 07 दंडाधिकारियों को जिला नियंत्रण कक्ष में सुरक्षित रखा गया है। दण्डाधिकारियों के साथ पुलिस पदाधिकारियों की भी प्रतिनियुक्ति की गई है। साथ ही पुलिस बल को भी लगाया गया है।

बैठक में पदाधिकारियों को आयोग के दिशानिदेशों के अनुरूप आवश्यक मार्गनिर्देश दिया गया। परीक्षा की बारीकियों को समझाते हुए आयुक्त श्री रवि ने कहा कि आयोग की परीक्षाओं का निष्पक्ष और सहज संचालन सुनिश्चित करने में स्थानीय निरीक्षण अधिकारी की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। सभी प्रतिनियुक्त स्थानीय निरीक्षण अधिकारी आयोग द्वारा निर्धारित कार्यों एवं उत्तरदायित्वों का अक्षरशः अनुपालन करें। वे परीक्षा से एक दिन पूर्व आवंटित परीक्षा स्थल का दौरा कर लें एवं तैयारियों का निरीक्षण करेंगे। सभी प्रतिनियुक्त स्थानीय निरीक्षण अधिकारी निर्धारित तिथियों को परीक्षा प्रारंभ होने के दो घंटा पूर्व तक अपने परीक्षा उपकेन्द्र पर निश्चित रूप से पहुँच जाएंगे तथा परीक्षा कार्य समाप्ति तक अपने उपकेन्द्र पर बने रहेंगे। वे पर्यवेक्षकों से संघ लोक सेवा आयोग द्वारा उपलब्ध करायी गयी मार्गदर्शिका के अनुरूप अनुदेशों का शतप्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित करेंगे।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि सभी स्थानीय निरीक्षण अधिकारी अपनेअपने परीक्षा उप केन्द्र के प्रत्येक पाली की परीक्षा प्रारंभ होने के निर्धारित समय से 30 मिनट पूर्व मुख्य गेट बंद करवाना सुनिश्चित करेंगे। किसी भी परीक्षार्थी को किसी भी परिस्थिति में परीक्षा प्रारंभ होने के निर्धारित समय से 30 मिनट पूर्व यानि प्रथम पाली 09.00 बजे पूर्वाह्न एवं द्वितीय पाली 01.30 बजे अपराह्न के बाद परीक्षा उपकेन्द्र के परिसर में प्रवेश की एवं उपस्थित परीक्षार्थी को परीक्षा समाप्ति के पूर्व परीक्षा हॉल/कमरा छोड़ने की अनुमति नहीं दी जाएगी। परीक्षा अवधि में स्थानीय निरीक्षण अधिकारी लगातार परीक्षा हॉल/कमरों का निरीक्षण करते रहेंगे। वे वीक्षकों के कर्तव्य निर्वहन पर भी सतत निगरानी रखेंगे।

सभी स्थानीय निरीक्षण अधिकारी अपनेअपने परीक्षा उपकेन्द्र पर प्रत्येक पाली की उपस्थित/अनुपस्थित परीक्षार्थियों की कुल संख्या की सूचना आयुक्त कार्यालय, पटना प्रमंडल, पटना स्थित नियंत्रण कक्ष को दूरभाष संख्या (0612-2219205/ 2233578) पर परीक्षा प्रारंभ होने के 30 मिनट के अंदर निश्चित रूप से उपलब्ध करायेंगे।

संघ लोक सेवा आयोग के निदेश के आलोक में परीक्षा हॉल/कमरे में मोबाईल फोन, आईटी गैजेट्स, डिजिटल वाच, स्मार्ट वाच, ब्लूटुथ एवं अन्य प्रकार के किसी संवाद उपकरण ले जाना प्रतिबंधित है। अतएव परीक्षा में किसी भी परीक्षार्थी को मोबाईल फोन, आईटी गैजेटस, ब्लूटुथ एवं अन्य प्रकार के किसी संवाद उपकरण परीक्षा भवन में ले जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। उक्त निदेश का उल्लंघन करने पर संबंधित परीक्षार्थी के विरूद्ध अनुशासनिक कार्रवाई करते हुए भविष्य में आयोग द्वारा आयोजित होनेवाली परीक्षाओं से भी वंचित कर दिया जायेगा। साथ ही केन्द्राधीक्षक, सहायक पर्यवेक्षक, वीक्षक एवं परीक्षा से जुड़े अन्य पदाधिकारी/कर्मी को भी परीक्षा हॉल/कमरे में मोबाईल फोन या अन्य प्रकार के किसी संवाद उपकरण को अंदर ले जाने की अनुमति नहीं है।

प्रवेश पत्र में उल्लिखित परीक्षा उपकेन्द्र को छोड़कर परीक्षार्थी को किसी अन्य परीक्षा उपकेन्द्र पर परीक्षा में सम्मिलित होने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

सभी प्रतिनियुक्त सहायक पर्यवेक्षकसहस्टैटिक दण्डाधिकारी निर्धारित तिथियों को परीक्षा प्रारंभ होने के दो घंटा पूर्व तक अपने परीक्षा उपकेन्द्र पर निश्चित रूप से पहुँच जाएंगे तथा परीक्षा कार्य समाप्ति तक अपने उपकेन्द्र पर बने रहेंगे। परीक्षा के मुख्य द्वार पर सहायक पर्यवेक्षकसहस्टैटिक दण्डाधिकारी नियमित उदघोषणा सुनिश्चित करायेंगे कि कोई भी परीक्षार्थी परीक्षा हॉल/कमरों में बैग्स, मोबाईल फोन, ब्लूटुथ तथा अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाईस नहीं ले जाएंगे। वे आवंटित परीक्षा उपकेन्द्रों पर परीक्षा हॉल/कमरों का निरीक्षण करेंगे।

सभी प्रतिनियुक्त जोनल दण्डाधिकारीसहसहायक समन्वयक पर्यवेक्षक अपने सम्बद्ध परीक्षा उपकेन्द्रों का निरीक्षण करते रहेंगे।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि पुलिस अधीक्षक, यातायात परीक्षा की निर्धारित तिथियों को परीक्षार्थियों, प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारियों एवं पदाधिकारियों के आवागमन के मद्देनजर यातायात व्यवस्था सुदृढ़ बनाए रखने हेतु अपेक्षित कार्रवाई करेंगे।

परीक्षाओं के सफल संचालन हेतु प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारियों, पुलिस पदाधिकारियों, केंद्राधीक्षकों एवं अन्य की आज आयुक्त कार्यालय स्थित सभाकक्ष में ब्रीफिंग की गई। आयुक्त के सचिव श्री विनय कुमार ठाकुर तथा अपर जिला दंडाधिकारी, विधिव्यवस्था श्री राजेश रौशन ने पदाधिकारियों को आयोग के दिशानिदेशों से अवगत कराया।

इस परीक्षा के सफल संचालन हेतु श्री मनीष कुमार श्रीवास्तव, जिला मत्स्य पदाधिकारी, पटनासहअपर प्रभारी दण्डाधिकारी, जिला नियंत्रण कक्ष, पटना को समुचित सहयोग एवं समन्वय स्थापित करने हेतु जिला नियंत्रण कक्ष में नोडल पदाधिकारी के रूम में नामित किया गया है।

अनुमंडल दण्डाधिकारी, पटना सदर तथा पुलिस उपाधीक्षक, विधिव्यवस्था, पटना/अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, पटना सदर परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षा के स्वच्छ, कदाचारमुक्त एवं शांतिपूर्ण संचालन हेतु विधिव्यवस्था संधारण के संपूर्ण प्रभार में रहेंगे एवं परीक्षा समाप्ति तक भ्रमणशील रहकर सतत निगरानी रखेंगे।

अपर जिला दण्डाधिकारी विधिव्यवस्था, पटना के साथ नगर पुलिस अधीक्षक, मध्य पटना विधिव्यवस्था के वरीय प्रभार में रहेंगे।

आयुक्त श्री रवि ने कहा कि अखिल भारतीय स्तर पर आयोजित होने वाले परीक्षा की गरिमा एवं महत्ता को ध्यान में रखते हुए सभी पदाधिकारियों को प्रतिबद्ध एवं तत्पर रहना होगा। कदाचारमुक्त परीक्षा का संचालन एवं परीक्षा की पवित्रता बनाये रखने हेतु प्रशासन दृढ़संकल्पित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *